Madhuraj Kumar

Rookie - 318 Points (Bagaha, Bihar)

Comments about Madhuraj Kumar

There is no comment submitted by members..

वही पुरानी धुन

दिल के बंद दरवाज़े पर
है ये किसका जोर
दिल का पंछी फँस गया
क्या जाने किस ओर

हौले हौले दबे पाँव
किसकी है ये आहट
जैसे जवां हो रही
नई नवेली चाहत

[Report Error]