Learn More

hasmukh amathalal

Gold Star - 19,419 Points (17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

' थोड़ा इंसानी जज्बा जो दे दिया है ' thoda insaani


' थोड़ा इंसानी जज्बा जो दे दिया है '

इंसान है फ़िक्र तो होनी ही चाहिए
खाने को दो वक्त की रोटी भी मिलनी चाहिए
रहा इंसानी नाता तो, महोब्बत भी होनी चाहिए
बगल में है पडोसी तो बातचीत भी होनी चाहिए।

में सुनता हूँ कभी कभी' प्यार में मर जाना मुझे मंजूर है '
झूकना मैंने सिखा नहीं 'पर वो हमारे जी हज़ूर है '
पता नहीं कितने पापड़ और बेलने पड़ेंगे
उनकी महोब्बत में हमें तारे जरुर नजर आने लगेंगे।

मैंने कहा 'चाँद तारे तोड़ ले आउंगा '
हो सका तो खून की नदियां बहा दूंगा
पर प्यार हांसिल करके ही रहूंगा
भले ही दो पैसे कमाने की हैसियत नहीं रखता हूँगा।

वो हंस दिए इस कदर की हमारी पेरो तले की जमीन ही खिसक गयी
चेहरा हमारा पिला पड गया और सिसक आते आते ही रेह गयी
वो मुस्कुरा रहे थे हमारी इस नादानियाँ पर
हम कहे जा रहे थे आस्मानियां सच पर सब हवा पर

मियाँ सुनो भी 'चाँद तारे तो दीखते है ही नहीं''
कैसे बहाओगे खून 'इंसानी जिस्म में ख़ून तो है ही नहीं'
महंगाई आसमान छू रही है और नौकरियां है नहीं
आप हाथ हवा में लहरा रहे है ओर नीचे जमीन तो है ही नहीं!

हमें लगा हम कुछ ज्यादा ही बोल गए है
सरहद पार करकर कहीं और चले गए गए है
'हमें शेखचल्ली करार ना दे दे ' यह सोच कर पाँव सुन्न हो गए
'जितनी जोर से उपऱ को हुए थे' जल्दी से रुख नीचे कर गए

'पता है, पता है, आप दिल के साफ़ है ' वो बोल उठे
'पर बातों से दिल भरता नहीं' और लोग रहेंगे रूठे रूठे
कुछ तो करो मियाँ जिसे साप भी ना मरे और लाठी भी ना टूटे
हमने भी ठाना और सोच लिया 'ये साथ कभी ना छूटे'

वो दिल के करीब थी और हसीन भी
हमें पसंद थी और मनभावन भी
खुदा ने थोडा हमें दिलफेंक जरुर बना दिया है
पर क्या करे मजबूर है 'थोडा भगवान ने थोड़ा इंसानी जज्बा जो दे दिया है '

Submitted: Thursday, February 20, 2014

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (' थोड़ा इंसानी जज्बा जो दे दिया है ' thoda insaani by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 19 comments »

Trending Poets

Trending Poems

  1. A Child's Christmas in Wales, Dylan Thomas
  2. The Road Not Taken, Robert Frost
  3. Do Not Go Gentle Into That Good Night, Dylan Thomas
  4. Fire and Ice, Robert Frost
  5. If, Rudyard Kipling
  6. I Heard the Bells on Christmas Day, Henry Wadsworth Longfellow
  7. Do Not Stand At My Grave And Weep, Mary Elizabeth Frye
  8. Invictus, William Ernest Henley
  9. Phenomenal Woman, Maya Angelou
  10. Still I Rise, Maya Angelou

Poem of the Day

poet Henry Wadsworth Longfellow

I heard the bells on Christmas day
Their old familiar carols play,
And wild and sweet the words repeat
Of peace on earth, good will to men.

...... Read complete »

   

New Poems

  1. What Does It Matter, Dorothy (Alves) Holmes
  2. Villanelle: Wander not into a land where.., T (no first name) Wignesan
  3. He Has Always Been Inside Us, Merton Lee
  4. Rock Hard Passion, Michael P. McParland
  5. Right Now, Michael P. McParland
  6. Love will find me, Lilly Emerson Brayfield
  7. Rest Your Head (On My Chest), Michael P. McParland
  8. Rest Your Head, Michael P. McParland
  9. Behind Closed Doors Once Again, Electric Lady
  10. Haiku After Sunrise, Dorothy (Alves) Holmes
[Hata Bildir]