Ajay Srivastava

Gold Star - 11,191 Points (28/08/1964 / new delhi)

Ajay Srivastava Poems

761. मै लडकी हुँ 12/24/2012
762. Being Human 12/25/2012
763. Sea Life 3/29/2013
764. Car 4/3/2013
765. Strength 3/22/2013
766. सपने 9/17/2013
Best Poem of Ajay Srivastava

सपने

वास्तविकता सपना नही होती है
हर वास्तविकता पहले सपना ही होती है
सपने आकाश की ऊंचाई से भी ऊपर
पल पल हर पल एक नई ऊंचाई की तरफ 11

वह सब करने की चाह
जो अब तक अधूरा सा है
ना तो किसी तूफान का भय
ना तो किसी आंधी का तनाव 11

राह की हर बाधा को सरलता से
पार कर लेने की चाहत
हो अगर मजबूत इरादे
सही दिशा मे हो तो सपने
साकार रूप मे सर झुकाए चले आते है 11

Read the full of सपने

Nature

We look toward nature
picture came to our mind.
In our eyes you are wealth
We saw so many advantage from you.
In your warmth we saw is peace of mind
We want you to grow leaps and bound
We want to save you from some evil.
Those who want to cut you in several part
Probable they do not know

[Report Error]