Alok Agarwal

Rookie - 166 Points (1st Jan 1990 / Allahabad)

Comments about Alok Agarwal

There is no comment submitted by members..
Best Poem of Alok Agarwal

युद्ध प्रगति पर पूर्ण विराम - निबन्ध

युद्ध क्या है? क्या युद्ध हथियारों से ही लड़े जाते हैं? इतिहास अपने जन्म से भयंकर, भयावह, क्रूर, सर्व-विनाशी युद्धों का गवाह रहा है/ जब से मानव की संसार में उत्पत्ति हुई, तब से वह लड़ रहा है/ और मैं कहता हूँ, कि लड़ाई क्यों न लड़ी जाये/ इस संसार में ना-ना प्रकार के जीव-जन्तु रहते हैं और आपस में युद्ध करते हैं/ जंगल के कठोर कानून में दया की कोई जगह नहीं है/ कोई शिकार है और कोई शिकारी/ हमारी मानव जाति भी इससे अछूती नहीं हैं/ जहाँ विरोध है, जहाँ मनभेद है, जहाँ मतभेद है; वहाँ दुश्मनी है, वहाँ लड़ाई है/ इस कर्मभूमि रूप में अवतरित रणभूमि में मनुष्य का कर्तव्य धर्म की रक्षा करना होना चाहिए/ धर्म-अधर्म ...

Read the full of युद्ध प्रगति पर पूर्ण विराम - निबन्ध

Single Heart

I have gotta single heart,
Which wassa released on parole,
You shoulda leave ya worries,
Come on, lets rock and roll.

It was time to party hard,
The hapless chap got an ace card,
Heart roses blossomed the deck,
Aroma could be felt over the beck.

[Report Error]