Bhuvan Rohatgi


प्रतिरूप

जिसने हमको जीवन के, रस्ते सभी दिखाए हैं,
खुद सब कुछ सह के भी, सब सुख हमे दिलाएं हैं, ,

दिन भर थक कर काम किया, रात को हमे सुलाया है,
जो भी हमने चाहा जब भी, सब कुछ हमे दिलाया है, ,

कभी न माँगा हमसे कुछ भी, कभी न कुछ उम्मीद करी,
ना संजोया अपने लिए कुछ, हर दम हमारी जेब भरी, ,

[Report Error]