Ganesh Prasad Timilsena

Freshman - 506 Points [Sursen Gaunle Anyol] (Pokhara, Nepal)

तकदिर

दिल में चाहत होने से क्या
चल्ना तो तकदिर के साथ् पड्ता है
दौलत सौरत जाबानी क्या
जल्ना तोः लकडी के साथ् पड्ता है
हर कदम पे मर्जी इन्सान कि चल्ती नही
फिर भी हर बार मेरा कहेना पड्ता है
फूल सी है जिन्दगि रंग भरना है जग में
फिर भी इन्सान हर कदम पे कांटे बो ता है

(sg anyol) (27/7/2014)

[Report Error]