Nirvaan Babbar

Rookie - 41 Points (04/03/1975 / Delhi)

मन (MAAN)

तन से प्रेम, करे हर कोई,
मन की सुध, कोई जाने ना,

अपना प्रेम है, कृष्ण कन्हाई,
तन को, कुछ भी, माने ना,

रम जा मन मैं, मन मैं शाम,
मन मैं ही बसते हैं श्री राम,

[Report Error]