Prabhakar Yadav

Rookie - 0 Points [Hindi Poems]

Prabhakar Yadav Poems

1. Best Hindi Kavita On Corruption 5/17/2015
Best Poem of Prabhakar Yadav

Best Hindi Kavita On Corruption

शीश कटाते फौजी देखे,
आँख दिखाता पाकिस्तान,
भाव गिराता रुपया देखा,

जान गँवाता हुआ किसान,

बहनो की इज्ज़त लुटती देखीं,
काम खोजता हर नौजवान,
कोई तो मुझको यह बता दे..
यह कैसा भारत निर्माण..

Check More Poems by Me on http: //www.youthpoetry.com/

अन्न गोदामो में सड़ते देखा,

भूख से मरता हिंदुस्तान,

घोटालो की सत्ता देखीं,

लूटता हुआ यह हिंदुस्तान,

आपस में लड़कर भाई-भाई,
जा रहे है क्यों श्मशान,
कोई तो मुझको यह बता दे..
यह कैसा भारत निर्माण..


पैसो के आगे बिकता देखा,

हर इंन्सान का ईमान, ...

Read the full of Best Hindi Kavita On Corruption
[Report Error]