Pravin Sawant

Rookie - 61 Points [Pravin_as]

प्रेमगीत Hindi Poem

प्रेमगीत

सून मेहबूबा मै तेरा हुआ
जिने का मुझको बहाना मिला

तेरा ही नाम लेके धडके मेरा दिल
तेरे बिना है अब जिना मुश्किल
तेरे खायलो मे गुजरे रात और दिन
तू सदा साथ रहे धूप हो या सावन

[Report Error]