SANDEEP KUMAR SINGH


बेटी हूँ तो मिटा दिया |

बेटी हूँ तो मिटा दिया

क्या थी मेरी गलती माँ,
जो तूने मुझे मिटा दिया,
अपनी ही हांथो से तूने,
आँचल अपना हटा दिया,

देख न पायी मैं तेरी सूरत,

[Report Error]