Sushil Kumar

Rookie (10: 05: 1951 / Bulandshahr)

नन्हा-मुन्ना एक कबाड़ी

नन्हा-मुन्ना एक कबाड़ी।
उगी न मूंछ न आई दाढ़ी।
सात साल की उम्र थी उसकी।
करे खुशामद जिसकी-तिसकी।
घर-घर गली-गली में जाता।
जोरों से आवाज लगाता।
लोहा, बोतल, रद्दी कागज।
लेता और बेच कर आता।
इससे जो भी मिले मुनाफा।

[Report Error]