anand shrivas


Poems of anand shrivas

1. alone hydro 3/16/2013
2. badlaw 11/23/2012
3. LOVE (the union of hearts) 11/24/2012
4. love is alive 11/24/2012
5. Love manifest 5/26/2013
6. मेरे जीवन की धारा 1/1/2013

मेरे जीवन की धारा

मेरे जीवन की धारा बहती चली गई
कभी मंद मंद तो कभी तेज बहाव मे
बहती गई बहती गई
जीवन के कण कण मे जीने का एहसास है
सुख ओर दुख मे जीवन के जसवात है
मेरे जीवन की धारा बहती चली गई

आंखो को नम कर गई वो यादें
अकेला मन जब रोया था

[Hata Bildir]