hasmukh amathalal

(17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

हमारी परछाइयाँ HAMARI PARCHHAIYAAN


हमारी परछाइयाँ

जलाने आये थे, जला के चले गये
खुद रोते थे ओर हमे रुलाके गये
हमें ना चाह थी यहाँ आने की
पर उन्होंने रोका नहीं ओर परवाह क़ी।

दुनिया ने मुझे खूब सताया
दुखी होने पर पानी भी ना पिलाया
में गिड़गिड़ाता रहा दुखभरी निगाहों से
उन्होंने परवाह न की मेरी आहो से।

मेरा दिल तो ऐसे भी टूट चुका था
शरीर यहॉँ था पर मे जा चुका था
फिर भी ना जाने क्यो गम सता रहा था?
दुनियाकी सही पहचान बता रहा था

हमारा दिल भी भीतर से रो रहा था
मन भी मन ही मन कुछ कहे जा रहा था
हम भी ये सच, मन से स्वीकार कर चुके थे
लोग भी अपने आप हमे भूल चुके थे।

वो चाहते तो हमे मिला सकते थे
मिलन की राह को हामी भर सकते थे
वो तो हो गये कातिल, मना हीं कर दिया
मौत मुख मे हमे, आगे कर दिया।

ना चाहकर भी मुझे जाना पड़ा
लोगों को भी मेरे पीछे रोना पड़ा
'अच्छा हुआ ' कहकर मन ही मन मुस्कुरा रहे थे
'खेर अब तो चला गया' आवारा मुझे बना रहे थे

ना चाहकर भी मुझे जाना पड़ा
लोगों को भी मेरे पीछे रोना पड़ा
'अच्छा हुआ ' कहकर मन ही मन मुस्कुरा रहे थे
'खेर अब तो चला गया' आवारा मुझे बना रहे थे

मुझे उनकी आवाज सुनाई नही दी
उनके कदमो की आहट भी कहीं नही थीं
शायद दुर से गम को भूला रहे होंगे
बताना चाहते होंगे पर गुमसुम रहे होंगे

में गुमनाम यु ही खाकेसुपूर्त हो गया
जनाजा निकला ओर देखते देखते राख हो गया
अब ना हम है ओर ना हीँ हमारी निशानियाँ
बस वो एक ही होगे हमारी परछाइयाँ

Submitted: Tuesday, May 13, 2014

Topic(s): POEM


Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

What do you think this poem is about?



Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (हमारी परछाइयाँ HAMARI PARCHHAIYAAN by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 23 comments »

New Poems

  1. You can or cannot....., Marshall Gass
  2. Do you still hear them sing?, Harold R Hunt Sr
  3. Blessed light, Rubel das raj
  4. No Time, Harold R Hunt Sr
  5. The Doctor Visit, Harold R Hunt Sr
  6. postponed until further -hey, i just not.., Mandolyn ...
  7. The elusive self., michael walker
  8. We Honor, Harold R Hunt Sr
  9. Why Do You Cry?, Harold R Hunt Sr
  10. read me like this, or don't read me at all, Mandolyn ...

Poem of the Day

poet Charles Stuart Calverley

He stood, a worn-out City clerk —
Who'd toil'd, and seen no holiday,
For forty years from dawn to dark —
Alone beside Caermarthen Bay.
...... Read complete »

   

Trending Poems

  1. The Road Not Taken, Robert Frost
  2. Dreams, Langston Hughes
  3. If, Rudyard Kipling
  4. Do Not Go Gentle Into That Good Night, Dylan Thomas
  5. Phenomenal Woman, Maya Angelou
  6. Still I Rise, Maya Angelou
  7. Annabel Lee, Edgar Allan Poe
  8. Fire and Ice, Robert Frost
  9. If You Forget Me, Pablo Neruda
  10. Alone, Edgar Allan Poe

Trending Poets

[Hata Bildir]