Treasure Island

hasmukh amathalal

(17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

कोशीश वाहवाही की करते है..koshis vahvaahi


कोशीश वाहवाही की करते है

ना माना उसने मेरा कहना
में चाहता था बस मर जाना
पर क्या आया दिल में की में जी गया
जीवन में फिर नशा ही नशा छा गया।

वो कहती गयी, में सुनता गया
बहारो ने भी है केहर ढाया
उपर से है किस्मत का साया
कुदरत का ये खेल मुझे बहुत ही भाया।

माया के नखरे बहुत होते है
सबके जेहन में बहुत सारे सवाल होते है
उनका हल ढूंढना सब के बस की बात नहीं होती है
'हर काम के पीछे एक नाम'की तकती होती है।

हर हाल में है मुझे उसे पाना
नहीं तो हो जायेगी किरकिरी ओर अफ़साना
कुदरत की शक्ति को है मैंने माना
में फिर भी नहीं मानता की हो गया है फ़साना।

वो मेरी शक्ति का प्रदर्शन है
उसमे एक प्रतिकूल हवा का दर्शन है
वो कभी हंसके भी नकारती नहीं है
मेरी हर बात को दिल से स्वीकारती रही है।

मुझे साफ़ दिल से ये बात कहनी चाहिए
नारी का चयन भी खुले दिल से होना चाहिए
माँ बाप की और से किसी अनचाही मांग नहीं की जानी चाहिए
हर तरह से ख़ुशी का माहोल और शादी कि रोशनी होनी चाहिए

मुझे चाहिए था उसका हाथ
सोचा है चलेंगे साथ साथ
हर जीवन में एक बदलाव जरुरी है
जैसे नदी में पानी का बहाव उतना ही जरुरी है

कहने को तो सभी यह बात करते है
पर दहेज़ और गहनो की मांग करते है
गरीब माँ बाप अपनी इज्जत कि बहुत ही परवाह करते है
मज़बूरी में भी कोशीश वाहवाही की करते है

Submitted: Thursday, April 10, 2014
Edited: Thursday, April 10, 2014

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

What do you think this poem is about?



Topic(s): poem

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (कोशीश वाहवाही की करते है..koshis vahvaahi by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 33 comments »

PoemHunter.com Updates

New Poems

  1. Blinding Trust, Nick Kler
  2. I was falling, Rohan Nath
  3. The Moon And Me, Mallika Achuthan Menon
  4. The Mighty Tower, Enoch Owusu Gyamfi
  5. When will I be Free?, nic berja
  6. Spreading, Aparna Chatterjee
  7. To The Milking Gone, Julian Mann
  8. No Regrets, Nancy Cullen
  9. Dark Days, micheal john
  10. Out Of Philosophy, Edward Kofi Louis

Poem of the Day

poet Robert Louis Stevenson

It is very nice to think
The world is full of meat and drink,
With little children saying grace
In every Christian kind of place.... Read complete »

 

Modern Poem

poet Amy Lowell

 

Trending Poems

  1. Palm Tree, Rabindranath Tagore
  2. The Road Not Taken, Robert Frost
  3. A Thought, Robert Louis Stevenson
  4. All You Who Sleep Tonight, Vikram Seth
  5. Daffodils, William Wordsworth
  6. On the Ning Nang Nong, Spike Milligan
  7. Warning, Jenny Joseph
  8. Fire and Ice, Robert Frost
  9. Still I Rise, Maya Angelou
  10. If, Rudyard Kipling

Trending Poets

[Hata Bildir]