Learn More

hasmukh amathalal

Gold Star - 19,419 Points (17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

कविता ..kavita


कविता

'क' से बनता था कविता
जो बीत गया वो कल था
आज गीत बनकर उभर रहा है
उसकी याद ताजा बना रहा है

में कैसे लिखू उसके बारे में चंद शब्द?
जो नहीं बन सकी थी मेरा प्रारब्ध
आज भी मुझे वो समा याद है
उसका साक्षी सिर्फ चाँद है

पर उसकी सखी चांदनी थी
वो भी सुन्दर और सयानी थी
उसने झट से दो टुंक पंक्तिया सहजता से कह दी
उसने जान किया था की कविता ही मेरी रूह थी

आज बार बार वो मेरे सामने आ रही है
मेरा कहा हुआ हर शब्द याद दिला रही है
पवन का झौका मुझे संदिग्ध दशा मे ड़ाल रहा है
मुझे मंत्रमुग्ध कर जैसे बेहाल कर रहा है

माना मैंने भी की वो मेरा सर्वस्व ही थी
'पर भाग्या में आना' लिखाकर नहीं आई थी
में बेबस, हताश और दिल से टूट चुका था
बिता कल आज 'कविता' बनकर दिल को छू रहा था

ना जानते हुए भी आज में उसके पीछे था
उसने ही तो आ के मेरे आंसुओको थमाया था
'आज न सही, कल सही'में फिर तुम्हारी बनकर आउंगी
'पुरे दिलपर छा जाउंगी और राज करुँगी' वो बार बार कहती


मेरी कलम उसके जादू तले आ गयी है
बस वो कुछ नहीं सुनती और वोही लिखाती है
क्या बसेरा था वो जो बन नहीं पाया?
बिता कल सुनेहरा था जो आज वापस आया

में तो मुग्ध हो ही जाता हु
पर मेरे वाचक भी मुझे याद दिला जाते है
'सर, क्या आपने किस्मत पायी है'
क़विता के रूप में क्या लिखाई है

मे किस्मत पर कोई टिपण्णी नहीं करना चाहता
पर हर कोई कविता को अपनी बनाना चाहता
वो खुबसूरत और हसीं वादियों से है
मेरा उसका नाता पुराना और सदियों से है

में खुश हूँ उसे फिर पाकर
वो कहती है सब से घर जाकर
'आप पढ़े या न पढ़े, समझे या ना समझे'
बस ज़माना हमसे कभी ना उलझे

Submitted: Friday, October 25, 2013
Edited: Saturday, October 26, 2013

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (कविता ..kavita by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 25 comments »

Trending Poets

Trending Poems

  1. The Road Not Taken, Robert Frost
  2. A Child's Christmas in Wales, Dylan Thomas
  3. If You Forget Me, Pablo Neruda
  4. Still I Rise, Maya Angelou
  5. No Man Is An Island, John Donne
  6. Invictus, William Ernest Henley
  7. Phenomenal Woman, Maya Angelou
  8. Fire and Ice, Robert Frost
  9. Will there really be a "Morning"?, Emily Dickinson
  10. I Heard the Bells on Christmas Day, Henry Wadsworth Longfellow

Poem of the Day

poet Henry Wadsworth Longfellow

I heard the bells on Christmas day
Their old familiar carols play,
And wild and sweet the words repeat
Of peace on earth, good will to men.

...... Read complete »

   

New Poems

  1. Now I am Mr. Delight, PARTHA SARATHI PAUL
  2. The 7 Signs of The Holy Night...(In Haik.., Frank James Ryan Jr...FjR
  3. The Day After Chris+mas...(A 10 Word Acr.., Frank James Ryan Jr...FjR
  4. So encouraging, hasmukh amathalal
  5. So Good, Michael P. McParland
  6. Snuggle, Michael P. McParland
  7. To speak untruth, hasmukh amathalal
  8. Sleep Well Love, Michael P. McParland
  9. Sleep Tight Sweet Lady, Michael P. McParland
  10. Stable in life, hasmukh amathalal
[Hata Bildir]