Sanjay Singh Saharan Poems

Hit Title Date Added
1.
दोस्त अब थकने लगे हे

दोस्त अब थकने लगे हे
साथ साथ जो खेले थे बचपन में
वो सब दोस्त अब थकने लगे है
किसी का पेट निकल आया है
...

भगवान हर किसी की जरूरत जानता था कि
साथी और खुश हो जाओ,
उन्होंने कहा कि लोगों को किसी की जरूरत है जानता था कि
किसका विचारों को हमेशा के पास हैं।
...

3.
तू खुद की खोज में निकल

🍃तू खुद की खोज में निकल
तू किस लिए हताश है, तू चल तेरे वजूद की
समय को भी तलाश है
समय को भी तलाश है
...

4.
'तुजे जीना सीखा रही थी'

🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂

मैंने कल एक झलक जिंदगी को देखा,
वो मेरी राह में गुनगुना रही थी...
...

5.
Friends Are Tired Now

Friends are tired now
Together who had played in childhood
All those friends are now tired
Someone's stomach has come out
...

6.
Why God Gave Us Friends

GOD Knew That Everyone Needs
Companion And Cheer,
He Knew That People Need Someone,
Whose Thoughts Are Always Near.
...

Close
Error Success