hilal chandausvi

Rookie - 21 Points [chandranshu tiwari] (chandausi)

hilal chandausvi Poems

1. काट आये हैं 8/22/2015
2. Roshni Ho Jayegi 8/23/2015
3. Insaan Ho Jaye 8/23/2015
4. Raat Bhar 8/23/2015
5. Aisa Hai 8/23/2015

Comments about hilal chandausvi

There is no comment submitted by members..
Best Poem of hilal chandausvi

Roshni Ho Jayegi

ग़ज़ल- दफ़अतन उस वक़्त तेरी बंदगी हो जायेगी। जिस घड़ी घर में हमारे तीरगी हो जायेगी। मत बुझाना घर की चौखट पे रखा बूढ़ा चराग़- याद आयेगा बहुत जब तीरगी हो जायेगी। एक साअत की तरह आये तो वो मेरे क़रीब- मुझसे मिलते ही मुकम्मल इक सदी हो जायेगी। जब पुकारेगा किसी की ज़ुल्फ़ का साया मुझे- बस तभी से इब्तदा ए शायरी हो जायेगी। तुम मेरी फितरत को समझो नाम है मेरा हिलाल- जिस जगह पर पाँव रख दूँ रोशनी हो जायेगी। - - - - - - - हिलाल चन्दौसवी

Read the full of Roshni Ho Jayegi
[Report Error]