Re: A Cloud Of Rain Poem by Jasbir Chatterjee

Re: A Cloud Of Rain

गहरे रंग का एक पयोधर
जीवन में तिर आया है
सच तो ये है दो पल को
कुछ खुशियाँ ले आया है
एकाकीपन बिसराया है.

मुस्कानों से भरी हुयी, होगी राह सुहानी
आने वाला वक़्त खुशी का कलरव लाये
मगर जल्द ही जकड़न वाली सर्द हवायें
हुई प्रवाहित ले आयीं परिवर्तन की झंझायें
वर्षा वाले सुखद पयोधर
चले गये किस पथ पर?

जीवन तो पहले सा चलता है
समय हुआ अंतहीन, अविराम
पर मैं हूँ नहीं अकेला
न विषाद से भरा दिखूं न नाखुश
किन्तु तुम्हारे जाने का जो खालीपन है
उसको भरने में मुझको
युगों युगों का समय लगेगा.

This is a Hindi translation of Jasbir Chatterjee's poem 'A Cloud of Rain.'

Translator's name: Rajnish Manga

Translation date: 28 February 2014

This is a translation of the poem A Cloud Of Rain by Jasbir Chatterjee
Friday, October 24, 2014
Topic(s) of this poem: Friendship
COMMENTS OF THE POEM

Caged Bird

BEST POEMS
BEST POETS
Close
Error Success