Tabish Raza Poems

Hit Title Date Added
1.
Farewell With A Hope

Heart delicate!
Thou eradicate!
Farewell
Farewell
...

2.
An Arrow Of Hatred

A bird has been shot;
By an arrow of hatred,
Falling from the skies,
Like a kite with no strings attached!
...

3.
Before You I Never Knew Of Angles

Before you I never knew of angels.
This place never was colourful fair of bangles.
Before you I never knew of angels!
...

4.
Darling, You Are Beautiful

5.
नाराज़ शाम

वो दरवाज़ा पीटते रहे
कमरे में दो खिड़कियां भी थी
भाई चार थे हम
वालिद की दो लड़कियां भी थी
...

6.
मा

पता ना पूछना मेरे घर का
मेरी मां नहीं है
मै रहता हूं खयालों में अब
के मुर्दों को भी मौत नहीं है
...

7.

बैठा तो करो छुप के साथ उसके सन्नाटे में
वो शक्स जो तड़पता है एक नज़र को अब
देखा तो करो बादलों को मुस्कुराते चांदनी रातों में
साथ बैठा तो करो कभी सन्नाटे में
...

8.
झूले

अभी तो निकले थे इस सपनों के शहर से
जज्बातों के झूले से गिर कर
फिर मजबूर मेहसूस कर रहा हूं मैं
सीढ़ियां चढ़ कर
...

9.
समझौता

तुम वो तो बिलकुल नहीं जिसकी आरज़ू थी हमें
ख्वाहिशें और भी कई दफ़न है मेरे
उम्र तुम्हारी अभी कच्ची है कुछ
कुछ पुख्तगी है कम इशारों में मेरे
...

10.
कोई किसी को क्या सिखाए

कोई किसी को क्या सिखाए!

ये जो बिखरे हैं नदी की डाल से,
मिले दरिया से तो मातम मनाए।
...