Abhaya Sharma


Abhaya Sharma Poems

1. Kavitaai कविताई 12/11/2012
2. Eid - 12/11/2012
3. Yah Raat Lekar Subah Nai Ayegi - यह रात लेकर सुबह नई आयेगी 12/11/2012
4. Ekla Cholo - Translation 12/11/2012
5. Pranay Prasnagini - प्रणय प्रसंगिनी 12/11/2012
6. Tum Nahi Maseeha se Kam bhai - तुम नही मसीहा से कम भाई 12/11/2012
7. Vigyaan Ke Dharatal - विज्ञान के धरातल 12/11/2012
8. Janapriya Amitabh जनप्रिय अमिताभ 12/11/2012
9. Haan, Maine Prann kar rakha hai - हां, मैने प्रण कर रखा है । 12/11/2012
10. Sarhad Ke Paar - सरहद के पार 12/11/2012
11. Naye Stambh - नये स्तंभ 12/11/2012
12. Abhishek - अभिषेक 12/11/2012
13. Nai Kavitaai - नई कविताई 12/11/2012
14. Prashn - प्रश्न 12/11/2012
15. raahgir - राहगीर 12/11/2012
16. Smaranika - स्मरणिका 12/11/2012
17. Taare - तारे 12/11/2012
18. Samay Ki Baat - समय की बात 12/11/2012
19. Amitabh Samay - अमिताभ समय 12/11/2012
20. Ankahee - अनकही 12/11/2012
21. Bharat Ke Hum Bharatvasi - भारत के हम भारतवासी 12/11/2012
22. Andhkaar - अंधकार 12/11/2012
23. Alok da ke prati - आलोक दा के प्रति 12/11/2012
24. Aaj ki Baat - आज की बात  12/11/2012
25. Ehsaas - एहसास 12/11/2012
26. Mann Mera - मन मेरा... 12/11/2012
27. Samay - समय! 12/11/2012
28. Nishabd - निशब्द 12/11/2012
29. Chehare - चेहरे Translation 12/11/2012
30. Bachchan Kavita - बच्चन कविता 12/11/2012
31. Nav Varsh - नव वर्ष 12/11/2012
32. Pankh - पंख 12/11/2012
33. Bharat maa se pyaar karunga- भारत मां से प्यार करूंगा 12/11/2012
34. Yash Ki Gatha - यश की गाथा 12/11/2012
35. Amrit Ke Naam - अमृत के नाम 12/11/2012
36. Sitaar - 12/12/2012
37. Raat Ke Pahar - रात के पहर 12/12/2012
38. Gantavya - गंतव्य (Translation) 12/12/2012
39. Nirmal Jeevan - निर्मल जीवन 12/12/2012
40. Adhurapan - अधूरापन 12/12/2012

Comments about Abhaya Sharma

There is no comment submitted by members..
Best Poem of Abhaya Sharma

Maa to aakhir maa hoti hai - माँ तो आखिर माँ होती है

माँ तो आखिर माँ होती है
मेरी या तेरी या फिर किसी और की
कैसे माँ से भिन्न भला माँ हो सकती है
सोलह आने सच है - माँ तो आखिर माँ होती है

जन्म-काल से पहले के उन नौ मासों में
बंधन माँ से जुडे हमारे कई बरसों के
काटे नही कटते, नही टूटते किसी तरह से
कहता है दिल - माँ तो आखिर माँ होती है

माँ, तुम राजाओं की माँ
तुम पीर-फ़कीरों की भी माँ
कैसे चलता जग बिन माँ के
कुछ झूठ नही कि - माँ तो आखिर माँ होती है

माँ, आज तुम्हारे जाने की बेला आई
मन विह्वल है, भावुक है मेरा विचलित है
कल किसे कहूंगा जाकर माँ सपने अपने
यह मान लिया कि - माँ तो आखिर माँ होती ...

Read the full of Maa to aakhir maa hoti hai - माँ तो आखिर माँ होती है

Netradaan - नेत्रदान

मेरे अंगोंसे अंग काटकर
कॊई जीवन पार लगा देना
मरने के बाद मेरे हमदम
जग का कल्याण करा देना

कॊई नेत्रहीन पा नेत्र मेरे
जब इस दुनिया को देखेगा
मेरे जाने के बाद मेरा
जीवन सार्थक हो जायेगा

[Report Error]