Ankit Raj Goyal's Translation Of 'i Am Your Baby Mum' ' मैं तेरा बच्चा हूं माँ' Poem by Dr. Antony Theodore

Ankit Raj Goyal's Translation Of 'i Am Your Baby Mum' ' मैं तेरा बच्चा हूं माँ'

-Translation Of 'i Am Your Baby Mum' By Ankit Raj Goyal - Poem by Dr. Antony Theodore
मैं तेरा बच्चा हूं माँ - Poem by Ankit Raj Goyal
मैं तेरा बच्चा हूँ माँ
मैं खुद से नहीं आया हूँ माँ
भगवान के फरिश्ते उड़ के आए थे कोक में तेरी
दूर मेहरबा जन्नत से कहीं
और चुपके से मुझे सोंप के चले गए थे कोक में तेरी

मैं खुद से नहीं आया हूँ माँ
भगवान की मर्जी का भेजा हुआ हूँ मैं माँ

मैं बहुत खुश था मेरे नए प्यार के पालने में
तेरी पाक कोक के झूले में
और सो रहा था वही, सुकून की लहरों में
फरिश्ते देख रहे थे
इबादत कर रहे थे
मेरी महफूतियत की
इस कायनात में मेरे जन्म की

वे पैदाइश के पाक नगमें गा रहे थे
मेरे मुबारक जन्म पर अपने सुनहरे बाजों पे बजाने को

जब मैं सोया हुआ था कोक में तेरी
फरिश्ते आते थे आहिस्ता से
मेरी प्यारी माँ, ये बात नहीं इल्म में तेरी

मैं खुश था पैदा होने को
तेरा प्यारा अजीज बच्चा बनने को

मैं हंसना चाहता था
गाना चाहता था
मैं खेलना चाहता था
तेरी छाती से दूध पीना चाहता था
जब तक तू खुश ना हो जाए
मैं तेरे चेहरे की मुस्कुराहट देखना चाहता था
जब मैं तेरी छाती से तेरा सारा दूध पी लूँ

तेरी कोक में वो मेरे सपने थे माँ
मगर उस जालिम दिन
तूने मुझे खत्म करने का फैसला कर लिया

हेडस के शैतानों को
तेरे फैसले की खबर लग गई
वो अपने सबसे तेज नगाड़े ले आए
अपनी शैतानी धुन में लगे बजाने
सारे शैतान इकट्ठे हो गए
और गोल गोल लगे नाचने
कूदते हुए गाते हुए
वो कतारों में नाचे
वो गोलों में नाचे
वो पंजों पर नाचे
वो अपने सरों के बल नाचे
वो अपने जंगली गाने गा रहे थे
और नगाड़े ढोल बजा रहे थे
पूरी जहन्नुम खुश थी
कि तुम मेरी साँस रोक रही हो

तुम्हें पता है मैं कितना रोया था?
तुम्हें पता है फरिश्ते कितना रोए थे?
क्या तुम्हें पता है कि पूरी जन्नत कैसे रोई थी
तुम्हारी पाक कोक में मेरी मौत के दिन?


उस आखिरी लम्हें में, मेरी दर्दनाक हत्या से पेहले
मैंने खुद सबसे ताकतवर भगवान को रोते देखा, बेसहारा अकेले

This is a translation of the poem I Am Your Baby Mum by Dr. Antony Theodore
Ankit Raj Goyal
Topic(s) of this poem: angels, crime, evil, god, heaven, helplessness, innocence, love, mother and child
Dr. Antony Theodore

Ankit Raj Goyal's Translation Of 'I Am Your Baby Mum' ' मैं तेरा बच्चा हूं माँ'

This is a translation of the poem I Am Your Baby, Mum by Dr. Antony Theodore
Wednesday, September 20, 2017
Topic(s) of this poem: angels ,crime,evil,god,heaven,helplessness,innocence,love,mother and child
COMMENTS OF THE POEM

Stopping By Woods On A Snowy Evening

BEST POEMS
BEST POETS
Close
Error Success