Rajnish Manga

Gold Star - 170,810 Points (September 10,1951 / Meerut (UP) / Presently at Faridabad (Haryana) , India.)

नौसेना दिवस के अवसर पर (4 दिसंबर) Hindi - Poem by Rajnish Manga

आज मुझे याद आते हैं
विशाखापत्तनम में बिताये वो दुर्लभ दिन
इंडियन नेवी की वो अविस्मरणीय मेजबानी
ईस्टर्न नेवल कमांड का वो हेडक्वार्टर
जहाँ हुयी थी विलक्षण मुलाक़ात
INS राजपूत जैसे विध्वंसक युद्धपोत से
INS सिन्धुवीर सी पनडुब्बी से
जो समुद्र की गहराई में हफ़्तों हफ़्तों रह सकती है
और समुद्र की लहरों का हाथ थामे नौसैनिक
करते हैं अभिरक्षा समुद्री सीमाओं की
24x7 हर समय बिना रुके और बिना थके

कैसे भूलेगा मुझको वह ड्राई डॉक
जहाँ समय समय पर युद्धपोत
अपनी दक्षता बनाये रखने के लिए
देखभाल व साजसंवार कायम रखने को
रुकते है या आया जाया करते है
वह संस्थान जहाँ कंप्यूटर नियंत्रित
तारपीडो व गाइडेड मिसाइल प्रणालियों से
अधिकारी व कर्मी सारे परिचित होते हैं
और जहाँ नेवी की ताकत घातक
तीक्ष्ण और प्रभावी रहती है

नेवी के सभी संस्थान
भले युद्धपोत के रूप में समुद्र की सतह पर हो
अथवा जमीन पर उन सबमे है एकरूपता
सबके सब हैं INS (यानी इंडियन नेवल शिप)
क्योंकि नौसैनिक कभी नहीं भूलते यह कि
उनका असली घर समुद्र है
कुछ दिन यदि वह स्थल के किसी संस्थान में हों
तो भी यह वे याद रखें कि
समुद्र उन्हें पुकारता और दुलारता है

हमारी नौसेना हमारी समुद्री सीमाओं की
रक्षा को तत्पर रहती है सदा सर्वदा
थल सेना व वायु सेना के साथ नौसेना
सुदृढ़ रखती है सुरक्षा तंत्र हमारा
अजेय है दुर्भेद्य है और परमवीर है

भारतीय नौसेना के इक इक कर्मी को
और अधिकारी को और उनके पौरुष को
हम सब भारतवासी आज
नौसेना दिवस के शुभ अवसर पर
कृतज्ञतापूर्वक याद करते है
इस अवसर पर हम हृदय से यह कहते हैं कि
“हमें आप पर गर्व है”

Topic(s) of this poem: courage, navy, navy day, ocean, ship

Form: Free Verse


Poet's Notes about The Poem

20 years ago, I had visited the Eastern Naval Command Head Quarters at Vizag or Vishakhapatnam as a guest of Indian Navy after I won a Quiz Competition organised jointly by Indian Navy and Doordarshan National.

Comments about नौसेना दिवस के अवसर पर (4 दिसंबर) Hindi by Rajnish Manga

  • Akhtar Jawad (9/29/2016 8:56:00 AM)


    A nice gratitude, a well penned poem.................................. (Report) Reply

    1 person liked.
    0 person did not like.
  • Kumarmani Mahakul (12/6/2015 12:52:00 AM)


    Coming in memory today this expresses deep emotion. Very amazingly drafted poem shared here.10 (Report) Reply

    Rajnish Manga (12/13/2015 11:10:00 AM)

    Thanks for your appreciative comments on the poem, Kumarmani ji.

  • (12/5/2015 9:20:00 AM)


    Enjoyed the commemorative song glorifying Indian Navy, a national pride. Thanks for sharing. (Report) Reply

    Rajnish Manga (12/13/2015 11:09:00 AM)

    So nice of you to have read the poem and leaving a comment reflecting patriotic fervor. Thanks.

  • Mohammed Asim Nehal (12/4/2015 2:06:00 PM)


    “हमें आप पर गर्व है”.....Badiya salute hai hamare jawano ke liye........They live for county and die for it...Tearful truth well expressed Rajnishji...10+++++ (Report) Reply

    Rajnish Manga (12/13/2015 11:05:00 AM)

    Thanks for subscribing your comments which are both appreciative and patriotic.

Read all 7 comments »



Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags


Poem Submitted: Friday, December 4, 2015

Poem Edited: Friday, December 4, 2015


[Report Error]